how to write shayari || शायरी कैसे लिखें

How to write shayari (Eng.& Hin.)

Writing Shayari (also spelled as Shayri or Shairi) is a beautiful and expressive form of poetry commonly used in South Asian cultures, especially in India and Pakistan. Shayari often conveys deep emotions, love, heartbreak, philosophical thoughts, or social commentary.

How to write shayari

Here are some steps to help you write Shayari: (how to write shayari)

  1. Understand the Basics: (how to write shayari)
  • Familiarize yourself with the structure and style of Shayari. Traditional Shayari follows a specific rhyming scheme and meter, but modern Shayari may be more flexible.
  1. Choose a Theme or Emotion:
  • Decide on the theme or emotion you want to express in your Shayari. It could be love, heartbreak, friendship, nature, life, or any other topic that resonates with you.
  1. Decide on the Tone: (how to write shayari)
  • Determine whether you want your Shayari to have a romantic, sad, happy, or philosophical tone. The tone will shape the language and imagery you use.
  1. Use Imagery and Metaphors:
  • Shayari often relies on vivid imagery and metaphors to convey feelings and ideas. Use metaphors, similes, and descriptive language to create a strong emotional impact.
  1. Rhyme and Meter: (how to write shayari)
  • Traditional Shayari often follows a rhyming pattern, with each couplet (sher) consisting of two lines that rhyme. Pay attention to the rhyme scheme (e.g., AA, AB, AA, etc.) if you choose to follow it. Meter can vary, but maintaining a consistent rhythm can enhance the flow of your Shayari.
  1. Write Concisely:
  • Shayari is concise and to the point. Each couplet should convey a complete thought or emotion. Avoid unnecessary words or verbosity.
  1. Use Wordplay: (how to write shayari)
  • Wordplay, known as “chutki” in Shayari, can add depth and creativity to your verses. Play with words, double meanings, and clever phrasing to make your Shayari more engaging.
  1. Draw Inspiration:
  • Draw inspiration from your own experiences, observations, or the world around you. You can also read Shayari by renowned poets to get a sense of different styles and techniques.
  1. Edit and Revise: (how to write shayari)
  • After writing your Shayari, revise and edit it to refine your language, improve the flow, and enhance the emotional impact.
  1. Share and Seek Feedback:
    • Share your Shayari with friends, family, or online communities dedicated to poetry. Feedback from others can help you improve and refine your skills.
How to write shayari

Remember that Shayari is a deeply personal form of expression, and there are no strict rules. Experiment with different styles and approaches until you find your unique voice. Over time, you’ll develop your own signature style of Shayari that reflects your emotions and perspective. more information for visite Wikipedia .

शायरी कैसे लिखें (Eng.& Hin.)

शायरी लिखने के लिए निम्नलिखित कदमों का पालन करें:

  1. मूल बातों को समझें:
  • शायरी की संरचना और शैली को समझें। पारंपरिक शायरी एक विशिष्ट ध्वनि और छंद की पारंपरिक अनुसरण करती है, लेकिन आधुनिक शायरी अधिक लचीली हो सकती है।
  1. विषय या भावना का चयन करें:
  • अपनी शायरी में व्यक्त करना चाहें विषय या भावना का चयन करें। यह प्यार, दिल टूटना, मित्रता, प्रकृति, जीवन या किसी और विषय की तरह हो सकता है जो आपके साथ संवादित होता है।
  1. ध्वनि का निर्धारण करें:
  • यह तय करें कि आपकी शायरी का तोन क्या होना चाहिए – रोमैंटिक, दुखी, खुश, या दार्शनिक। तोन आपके उपयोग की भाषा और छवियों को आकर्षित करेगा।
  1. छवियों और उपमान का उपयोग करें:
  • शायरी अक्सर गहरी छवियों और उपमानों का संवाद करने के लिए प्रयुक्त करती है। छवियों, उपमानों और वर्णनात्मक भाषा का प्रयोग करके मजबूत भावनाओं को प्रस्तुत करें।
  1. ध्वनि और छंद:
  • पारंपरिक शायरी अक्सर एक ध्वनि और छंद के साथ एक रिमिंग पैटर्न का पालन करती है, जिसमें प्रत्येक कपलेट (शेर) दो पंक्तियों से बनता है जो साथ-साथ आते हैं। इस पैटर्न का पालन करने की चुनौती को नकारने के बावजूद, रचना की धारा को बढ़ावा देने के लिए एक स्थिर ताल को बनाए रखना महत्वपूर्ण हो सकता है।
How to write shayari
How to write shayari
  1. संक्षेप से लिखें:
  • शायरी संक्षेप और मुद्दों को स्पष्ट रूप से प्रस्तुत करती है। प्रत्येक कपलेट को पूरा विचार या भावना प्रस्तुत करना चाहिए। अनावश्यक शब्दों या शब्दों के अतिरिक्तता से बचें।
  1. शब्दप्ले का उपयोग करें:
  • शब्दप्ले, जिसे शायरी में “चुटकी” कहा जाता है, आपके छवियों को और निर्माणशील बना सकता है। शब्दों, दोहरे अर्थों और चतुर व्याकरण के साथ खेलें, ताकि आपकी शायरी और भी आकर्षक हो।
  1. प्रेरणा लें:
  • अपने अपने अनुभवों, अवलोकनों, या आपके चारों ओर की दुनिया से प्रेरणा लें। आप भी प्रमुख कवियों की शायरी पढ़ सकते हैं ताकि आप विभिन्न शैलियों और तकनीकों का अहसास कर सकें।
  1. संपादन और संशोधन करें:
  • अपनी शायरी लिखने के बाद, इसे संशोधित और संपादित करें ताकि आपकी भाषा को रिफाइन कर सकें, प्रवाह को सुधार सकें और भावनात्मक प्रभाव को बढ़ा सकें।
  1. शेयर करें और प्रतिक्रिया मांगें:
    • अपनी शायरी को दोस्तों, परिवार, या कविता के लिए ऑनलाइन समुदायों के साथ साझा करें। दूसरों से प्रतिक्रिया मिलने से आपको सुधारने और अपने कौशल को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है।
How to write shayari

ध्यान दें कि शायरी व्यक्तिगत अभिव्यक्ति का गहरा रूप है, और कोई नियम नहीं होते। अपनी विशेष ध्वनि को पहचानने के लिए विभिन्न शैलियों और दृष्टिकोणों का परीक्षण करें। समय के साथ, आप अपनी खुद की शायरी की एक अंगूठी चिन्हित शैली विकसित करेंगे जो आपकी भावनाओं और दृष्टिकोण को प्रतिबिंबित करती है।

1 thought on “how to write shayari || शायरी कैसे लिखें”

Leave a Comment